Services
 

प्रशिक्षण

क्षमता विकास और प्रशिक्षण

मानव संसाधन की गुणवत्ता और उसके पणधारियों के कौशल-स्तर सीधे एक उद्योग की वृद्धि और विकास को प्रभावित करते है । तथापि रेशम उत्पादन भारत में एक पुरानी प्रथा है, रेशम उत्पादन और रेशम उद्योग में पर्याप्त संख्या के प्रशिक्षित और कुशल जनशक्ति का अभाव है । केन्द्रीय रेशम बोर्ड, वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार शुरुआत से ही एक बहुत मजबूत प्रशिक्षण एवं क्षमता विकास संगठन रहा । कुशलतापूर्वक हिजाइनीकृत जरूरत-आधारित, गुणवत्ता प्रशिक्षण कार्यकम के माध्यम से सुसंगत तकनीकी से संबंधित सूचना और ज्ञान,कौशल विकास और कौशल उन्नयन और विभिन्न अवधारणाओं की परिष्करण प्रक्रिया और प्राद्योगिकियों के माध्यम से विभिन्न उप-क्षेत्रों में पणधारियों और रेशम उत्पादन और रेशम(मिट्टी से रेशम)की गतिविधियों में उद्यमियों को बढावा देने तथा पणधारियों को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है ।

केरेबो में क्षमता विकास और प्रशिक्षण में नियमित संरचित पाठ्यक्रम निहित है –रेशम उत्पादन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पीजीडीएस) और रेशम उत्पादन में गहन प्रशिक्षण (आईटीएस), उद्यमिता विकास कार्यक्रम और अन्य अल्पकालिक (1-2 सप्ताह) कौशल और क्षमता वृद्धि प्रशिक्षण कार्यक्रम शामिल है । इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन i) केरेबो के विभिन्न अनुसंधान एवं विकास संस्थानों और उनके अधीनस्थ क्षेत्र इकाइयों द्वारा देश के विभिन्न भागों में स्थित विशिष्ट रेशम उपक्षेत्रों जैसे, शहतूत,तसर,एरी और मूगा और सीधे ii) क्षमता विकास व प्रशिक्षण (सीबीटी) प्रभाग, केरेबो,बेंगलूरु द्वारा किया जाता है ।  कृपया अधिक जानकारी के लिए संलग्न प्रशिक्षण कलैण्डर देखें ।     प्रशिक्षण कलैण्डर